Go to ...

Skill Reporter

Informational updates on skill development, technical vocational education and training

Skill Reporter on Google+Skill Reporter on YouTubeSkill Reporter on LinkedInSkill Reporter on PinterestRSS Feed

January 18, 2018

पंजाब – जेलों में स्किल डेवलपमेंट योजना चलाने वाला पहला राज्‍य


रूपनगर : पंजाब सरकार ने राज्य के हर वर्ग को हुनर विकास प्रोग्राम (स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम) के साथ जोड़ने की मुहिम के तहत जेलों में बंद कैदियों को भी रोजगार के साधन उपलब्ध करवाने के लिए प्रशिक्षण देने का प्रयास किया है।

इसलिए पंजाब की सभी जेलों में स्किल डेवलपमेंट सेंटर (skill development centre) खोले जा रहे हैं। इसके अंतर्गत उद्योग मंत्री मदन मोहन मित्तल ने सिद्धि विनायक वेलफेयर सोसायटी की ओर से रूपनगर जिला सुधार घर में स्थापित किए गए सिलाई-कढ़ाई, कंप्यूटर सेंटर और हेयर ड्रेसिंग स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग सेंटर  का उद्घाटन किया।

इससे पहले जेल में मीडिया के साथ बातचीत करते मित्तल ने कहा कि पंजाब सरकार द्वारा राज्य की जेलों में सजा भुगत रहे कैदियों और सुनवाई अधीन हवालाती की अपराधिक सोच को तब्दील करके उनको कलाकार बनाने के मकसद से सभी जेलों में हुनर विकास केंद्र खोले जा रहे हैं और क्रिमिनल को क्रिएटिव बनाने के लिए जेलो में इस तरह के प्रशिक्षण प्रोग्राम पंजाब सरकार ने शुरू किए हैं। पंजाब की 20 जेलों में हर साल एक-एक हजार कैदियों को कलाकार बनाने के लिए प्रशिक्षण दी जाएगी, जिसके अंतर्गत हर साल 20 हजार बंदियों को प्रशिक्षण दी जा सकेगी। इसके अलावा बंदी की जेल में दिहाड़ी 50 रूपये से बढ़ा कर 150 रूपये कर दी गई है।

उन्होंने बताया कि गांव अगमपुर में 25 करोड़ रूपये की लागत से हुनर विकास केंद्र बनाया जा रहा है। अंडर ट्रायल व कम सजा वालों के लिए छोटी अवधि के पाठ्यक्रम लाए जाएंगे | संयुक्त निदेशक जगजीत ¨सह ने बताया कि इस स्कीम के अंतर्गत जेल में लंबी सजा भुगत रहे कैदियों के लिए जेलों में प्रोडक्शन सेंटर बनाए जाएंगे और थोड़ी सजा वाले या सुनवाई अधीन मामलों के बंदियों के लिए छोटी अवधि के पाठ्यक्रम शुरू किए जाएंगे।

माहिर डॉ.अश्वनी भल्ला ने कहा पंजाब सरकार यदि इस प्रोग्राम को केंद्र के मानवीय स्त्रोतों बारे मंत्रालय के साथ जोड़ ले तो 40 पाठ्यक्रमों में प्रशिक्षण लेने वाले कैदियों को केंद्र की तरफ से हर महीने एक हजार रूपये दिए जाने का प्रयास किया गया है। इस मौके जेल सुप¨रटेंडेंट गुरपाल ¨सह सरोआ ने कहा कि जिस तरह सुधार घर की दीवार से बाहर लोग रहते हैं, उसी तरह ही सुधार घर की दीवार के अंदर भी रहते हैं। जिसने अपने गुनाह की सजा पूरी कर ली, उसे गुनाहगार नहीं कहा जा सकता। मित्तल को जाखड़ ने दिलाया भरोसा, कैदियों की ¨जदगी संवार देंगे | इस मौके सभी मेहमानों का धन्यवाद करते हुए लख¨मदर ¨सह जाखड़ डीआईजी जेल ने कहा कि हुनर का मतलब है हाथ और दिमाग का इस्तेमाल करके कोई काम सीखना और इसके उपरांत काम करके अपने परिवार का पेट भरना है।

Note: News shared for public awareness with reference to the information provided at online news portals.

Tags: , , , ,

More Stories From Regional