Go to ...

Skill Reporter

Informational updates on skill development, technical vocational education and training

Skill Reporter on Google+Skill Reporter on YouTubeSkill Reporter on LinkedInSkill Reporter on PinterestRSS Feed

April 25, 2018

सिडकुल में सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम प्रौद्योगिकी केंद्र का शिलान्यास, सीमांत क्षेत्रों में ट्रेनिंग सेंटर,ऑटो मोबाइल हब व टूल रूम खोलने की भी घोषणा


उधम सिंह नगर (उत्तराखंड) : सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने कहा कि प्रौद्योगिकी केंद्र की स्थापना से युवाओं को इंजीनियरिंग का प्रशिक्षण मिलेगा और उद्योगों को तकनीकी सहायता। केंद्र सरकार उत्तराखंड के विकास को लेकर कृत संकल्पित है। उन्होंने काशीपुर में जल्द ही टूल रूम खोलने की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि सितारगंज क्षेत्र ऑटो मोबाइल हब के रूप में विकसित हो रहा है। सीएम ने केंद्रीय मंत्री से अल्मोड़ा में इंस्टीट्यूट खोलने के लिए सौ करोड़ रुपये देने की मांग की। उन्होंने कहा कि सीमांत क्षेत्रों में ट्रेनिंग सेंटर खोले जाएं।

सोमवार को सिडकुल में सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम प्रौद्योगिकी केंद्र का भूमि पूजन व शिलान्यास कार्यक्रम हुआ। सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र, मुख्यमंत्री हरीश रावत, सांसद भगत सिंह कोश्यारी एवं कैबीनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल ने शिलान्यास किया। केंद्रीय मंत्री मिश्र ने कहा कि युवा टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में आगे बढ़कर नई-नई तकनीक इजाद कर सकें। इसके लिए प्रौद्योगिकी केंद्र खोला गया है जिसमें बीएससी, एमएससी, बीटेक, एमबीए स्तर तक के लोग भी इंजीनियरिंग का कोर्स कर सकेंगे। उन्होंने केंद्र की योजनाएं गिनाते हुए कहा कि उनके मंत्रालय से संचालित योजनाओं में सरलीकृत किया गया है। मंत्रालय में उद्योगों का रजिस्ट्रेशन पांच मिनट में ऑनलाइन हो जाता है। इसका लाभ उत्तराखंड राज्य में 5 हजार 114 उद्यमियों ने उठाया है। पूरे देश भर में 18 लाख से ज्यादा उद्यमी लाभ ले रहे हैं। कहा कि कलस्टर के रूप में उद्योग स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने प्रदेश में दो कलस्टर बनाने के लिए 30 करोड़ देने की घोषणा की।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पीएम की जीरो डिफेक्ट, जीरो इफेक्ट योजना इंडस्ट्री के मैन्युफैक्चरिंग की गुणवत्ता को मापेगी। यह पांच श्रेणियों में बनी हैं। जिसके आधार पर उद्योगों को एमएसएमई द्वारा आर्थिक सहायता दी जाएगी। कहा कि यह योजना 18 अक्टूबर को लुधियाना में लांच हुई। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना के तहत 2015-16 में छोटे उद्यमियों के लिए 1136 प्रोजेक्ट स्वीकृत किए गए। 6 हजार 161 लोगों को रोजगार मिला। 17.41 करोड़ की मार्जिन मनी वितरित की। बैंकों द्वारा 56 करोड़ा का लोन दिया गया। नौजवानों को पांच से 25 लाख तक का प्रोजेक्ट मिलना चाहिए।

मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि प्रौद्योगिकी सेंटर युवाओं को प्रशिक्षित करने में वरदान साबित होगा। कहा कि प्रदेश सरकार राज्य में स्किल डेवलपमेंट को बढ़ावा दे रहा है। प्रदेश में डेढ़ सौ से ज्यादा आईटीआई, 200 से अधिक पॉलीटेक्निक हैं। कहा कि सीमांत इलाकों में दस्तकारी के काम के लिए सरकार अल्मोड़ा में इंस्टीटयूट डेवलप कर रही है। जिसके लिए सौ करोड़ की जरुरत है। सांसद कोश्यारी ने कहा कि किच्छा से सितारगंज होते हुए खटीमा तक जल्द ही रेलवे लाइन का निर्माण शुरु होगा। केबीनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल ने एमएसएमई सेक्टर में युवाओं के लिए छूट पर उद्यम लगाकर बेरोजगारी को दूर करने का प्रयनास किया जा रहा है। सितारगंज का टूल रूम मील का पत्थर साबित होगा। वहां पर केंद्रीय अपर सचिव एवं विकास आयुक्त सुरेंद्रनाथ त्रिपाठी, कुमाऊं आयुक्त डी. सेंथिल पांडियान, जिलाधिकारी चंद्रेश यादव, एसएसपी सेंथिल अबुदई, सीडीओ आलोक कुमार पांडेय, एल्डिको डीजीएम संदीप चावला, सिडकुल आरएम गौरव चटवाल आदि थे।

Note: News shared for public awareness with reference from the information provided at online news portals.

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

More Stories From Regional