Go to ...

Skill Reporter

Informational updates on skill development, technical vocational education and training

Skill Reporter on Google+Skill Reporter on YouTubeSkill Reporter on LinkedInSkill Reporter on PinterestRSS Feed

January 18, 2018

खूंटी में बनने वाले नॉलेज सिटी में कौशल विकास के लिए तैयार किए जाएंगे ढाई लाख ट्रेनर : डा. नीरा यादव


कोडरमा : राज्य में कौशल विकास पर विशेष जोर दिया जा रहा है। युवा कुशल होंगे तभी आर्थिक तरक्की आएगी। लिहाजा पूरे राज्य में नए कॉलेज भवनों में कौशल विकास प्रशिक्षण केंद्र भी शुरू किया जाएगा। शिक्षा मंत्री डा. नीरा यादव ने बताया कि खूंटी में बनने वाले नॉलेज सिटी में कौशल विकास के लिए ढाई लाख ट्रेनर तैयार किए जाएंगे। ट्रेनरों की कमी के कारण कौशल विकास में बाधा आ रही है, जो आने वाले समय में दूर होगी। केंद्र सरकार से भी इस संबंध में निर्णायक वार्ता हुई है। उन्होंने कहा कि डोमचांच में महिला डिग्री कॉलेज के तीसरे तल्ला में कौशल विकास का प्राशिक्षण केंद्र खोला जाएगा। उन्होंने कहा कि युवा कुशल होंगे तो समस्याएं कम होगी। लोगों को रोजगार के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। सरकार ऐसे मामलों में गंभीरता से कदम उठा रही है। राज्य भर में जर्जर इंजीनियरिंग  कॉलेज व पोलिटेक्निक भवनों को दुरुस्त करवाया जा रहा है। पोलिटेक्निक संस्थानों में भी कौशल विकास का प्रशिक्षण शुरू किया जा रहा है, ताकि युवाओं को लाभ मिल सके।

उन्होंने कहा कि शैक्षणिक रूप से झारखंड देश का अव्वल राज्य होगा। मैट्रिक-इंटर के बाद बेहतर शिक्षा के लिए यहां के बच्चे दूसरे राज्य, शहर जाकर उच्च शिक्षा या प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करते है। सरकार का प्रयास राज्य के बच्चों को राज्य में ही वह माहौल देना है, ताकि यहां के बच्चों को बाहर जाने की आवश्यकता नहीं पड़े। शिक्षा के क्षेत्र में इस दिशा में कदम उठाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इससे भी यहां रोजगार की संभावना बनेगी।

मंत्री ने यह भी  बताया कि करमा में मेडिकल कॉलेज व अस्पताल जल्द ही शुरू होंगे। केंद्रीय मंत्री से मुलाकात के बाद ठोस आश्वासन मिला है। अस्पताल का संचालन ईएसआई द्वारा किया जाएगा, जबकि मेडिकल कॉलेज स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित होगा। करमा में यह सुविधा बहाल होने के बाद कोडरमा के अलावा आसपास के जिलों के लोगों को भी लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि सर्वाधिक मजदूर वाले अन्य स्थानों पर भी श्रम विभाग द्वारा अस्पताल के लिए भूमि की मांग की गई है। करमा के लिए फिलहाल 30 एकड़ भूमि हस्तांतरण की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। वहीं सदर अस्पताल में ट्रामा सेंटर का संचालन भी जल्द शुरू होगा। इसकी प्रक्रिया भी अंतिम चरण में है। उन्होंने कहा कि करमा को मेडिकल कॉलेज बनाना उनकी प्राथमिकता है।

Note: News shared for public awareness with reference from the information provided at online news portals.

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

More Stories From Regional