Go to ...

Skill Reporter

Informational updates on skill development, technical vocational education and training

Skill Reporter on Google+Skill Reporter on YouTubeSkill Reporter on LinkedInSkill Reporter on PinterestRSS Feed

January 18, 2018

अन्नासाहब पाटिल आर्थिक विकास आयोग के तहत 3 लाख विद्यार्थियों को मिलेगा नि:शुल्क कौशल विकास प्रशिक्षण


मुंबई : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस ने मराठा क्रांति मोर्चा के प्रतिनिधि मंडल को उनकी मांगों पर मंत्री स्तर की एक उप समिति का गठन करने का आश्वासन दिया और कहा कि कमेटी समुदाय के विभिन्न मंचों के साथ तीन महीने में मुद्दों को हल करने के लिए संवाद करेगी।

फडणवीस ने कहा कि राज्य सरकार मराठा समुदाय को आरक्षण देने के पक्ष में है और इस मामले को पिछड़े वर्ग के आयोग के पास भेजा जायेगा और आयोग अपनी रिपोर्ट बंबई उच्च न्यायालय को देगा। उन्होंने कहा कि आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग के लोगों को छात्रवृत्ति की सुविधा दी जाती है वैसी ही सुविधा मराठा समुदाय को भी मिलेगा और इसे 605 पाठयक्रम तक बढ़ा दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि 60 प्रतिशत अंक के पहले शर्त को ढीला कर 50 प्रतिशत कर दिया जायेगा। हर जिला में विद्यार्थियों के रहने के लिए निवास बनाया जायेगा जिसके लिए सरकार पांच करोड़ रुपए देगी।

कौशल विकास पाठ्यक्रमों को शुरू किया जायेगा नि:शुल्क

अन्नासाहब पाटिल आर्थिक विकास आयोग के तहत कौशल विकास पाठ्यक्रमों को नि:शुल्क शुरू किया जायेगा जिससे तीन लाख विद्यार्थियों को इसका लाभ मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि सरकार जनता को जाति प्रमाण पत्र देने के लिए नीति बना रही है। कोपर्डी में लड़की के साथ बलात्कार और हत्या के मामले में उन्होंने कहा कि सरकारी वकील उज्जवल निकम ने पांच माह के अंदर 31 गवाहों से पूछताछ पूरी कर ली। बचाव पक्ष द्वारा विलंब की नीति पर उन्होंने कहा कि अदालत ने उन्हें दो बार दंडित किया। बचाव पक्ष के वकील ने निचली अदालत के आदेशों को बंबई उच्च न्यायालय में चुनौती दी है। उच्च न्यायालय ने गवाहों से पूछताछ करने की अनुमति दी है और अगली सुनवाई 17 अगस्त को होगी। सुनवाई अंतिम चरण मे हैं और अदालत जल्द ही अपना आदेश सुना सकती है।

मुंबई में मराठा क्रांति मोर्चा शुरू किया गया जिसके चलते शहर के कई हिस्सों में जाम लग गया। मराठा समाज ने सरकारी नौकरियों और शिक्षा में 16 प्रतिशत आरक्षण को लेकर सरकार को झकझोरने के लिए यह मोर्चा निकाला। यह मूक मोर्चा था जिसमें कोई नारेबाजी और भाषणबाजी नहीं थी। न ही इस मोर्चे में किसी राजनीतिक दल का बैनर था।वहीं मुंबई ट्रैफिक पुलिस ने पहले ही लोगों के लिए एडवाइजरी जारी कर दी थी। अहमदनगर, पुणे औरंगाबाद, मराठवाड़ा और विदर्भ में यह मोर्चा काफी दिनों से चल रहा है। मराठा क्रांति मूक मोर्चा के आयोजकों का कहना है कि हम इसे 57 जगहों पर कर रहे हैं। पहले मराठा क्रांति मूक मोर्चा का आयोजन पिछले साल 9 अगस्त को हुआ था। लाखों की संख्या को देखते हुए मुंबई पुलिस ने विशेष सुरक्षा बल तैनात किया है।

Note: News shared for public awareness with reference from the information provided at online news portals.

Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , ,

More Stories From Maharashtra