Go to ...

Skill Reporter

Informational updates on skill development, technical vocational education and training

Skill Reporter on Google+Skill Reporter on YouTubeSkill Reporter on LinkedInSkill Reporter on PinterestRSS Feed

April 25, 2018

‘इकनॉमिक रिकवरी तेज होने से इस साल बढ़ेगी हायरिंग’


कोलकाता : इकनॉमिक ग्रोथ तेज होने से भारत में रोजगार के मौके बढ़ेंगे। रिक्रूटमेंट कंपनी माइकल पेज ने इंडिया सैलरी बेंचमार्क 2018 रिपोर्ट में यह दावा किया है। बता दें कि माइकल पेज ने यह रिपोर्ट इकनॉमिक टाइम्स के साथ शेयर की है। माइकल पेज की स्टडी में कहा गया है कि सरकार के मेक इन इंडिया, रिन्यूएबल एनर्जी सेक्टर की ग्रोथ तेज होने और टेक्नॉलजी का रोल बढ़ने से हायरिंग में बढ़ोतरी होगी।

माइकल पेज इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर निकोलस डुमॉलिन ने बताया, ‘2017 में भी कई सेक्टर में हायरिंग बढ़ी थी। इसमें 2018 में और तेजी आएगी। सरकार की पहल के चलते कई सेक्टर्स की ग्रोथ तेज होने की उम्मीद है, जिससे आखिरकार इकनॉमिक ग्रोथ बढ़ेगी।’

सेल्स और मार्केटिंग
माइकल पेज ने इंटरनल डेटा और बड़ी कंपनियों से बातचीत के आधार पर यह रिपोर्ट तैयार की है। इस रिपोर्ट से नए जॉब ट्रेंड और नौकरी बदलने पर इंक्रीमेंट की संभावनाओं का पता चलता है। रिपोर्ट के मुताबिक, हर इंडस्ट्री में अच्छी लीडरशिप स्किल वाले सेल्स प्रफेशनल की मांग रहेगी। मार्केटिंग के लिए कंपनियों को कंज्यूमर और डिजिटल सेगमेंट में एक्स्पीरियंस रखने वाले लोगों की तलाश है।

ई-कॉमर्स और इंटरनेट, एनर्जी, प्रफेशनल सर्विसेज और केमिकल्स कंपनियां ऐसे लोगों की अधिक हायरिंग कर सकती हैं। सेल्स, रीजनल या एरिया सेल्स मैनेजर्स और डिजिटल मार्केटिंग हेड के लिए प्रफेशनल्स की मांग अधिक रहने की उम्मीद है। रिपोर्ट में नौकरी बदलने पर 21-25 पर्सेंट की एवरेज सैलरी हाइक का अनुमान लगाया गया है।

फाइनैंस और अकाउंटिंग
2018 में इंफ्रास्ट्रक्चर, एनर्जी और ई-कॉमर्स सेक्टर में प्राइवेट इक्विटी कंपनियां निवेश बढ़ा रही हैं। इसलिए इन सेक्टर्स में टैलंट की मांग बढ़ सकती है। इसमें ऐसे लोगों को आसानी से नौकरी मिलेगी, जिनके पास फंड जुटाने और इन्वेस्टर रिलेशंस का एक्स्पीरियंस होगा। हेल्थकेयर, एफएमसीजी मैन्युफैक्चरिंग या इंडस्ट्रियल, ई-कॉमर्स, इंफ्रास्ट्रक्चर और रिन्यूएबल एनर्जी रोजगार के लिहाज से टॉप इंडस्ट्रीज होंगी, जहां चीफ फाइनैंस ऑफिसर या कंट्रोलर, कॉर्पोरेट फाइनैंस (फंड रेजिंग) और टैक्स हेड की मांग ज्यादा होगी। रिपोर्ट में बताया गया है कि इन सेक्टर्स में नौकरी बदलने वालों को 21-30 पर्सेंट की सैलरी हाइक मिल सकती है।

ह्यूमन रिसोर्सेज
माइकल पेज की रिपोर्ट के मुताबिक, ऐनालिटिकल और एग्जिक्यूशन पर फोकस करने वाले एचआर प्रफेशनल्स की काफी मांग है। परफॉर्मेंस मैनेजमेंट, लीडरशिप और हाई-वॉल्यूम हायरिंग का तजुर्बा रखने वाले एचआर प्रफेशनल्स को भी कंपनियां हायर करना चाहती हैं। ई-कॉमर्स, इंश्योरेंस, रिटेल और मैन्युफैक्चरिंग कंपनियां ऐसे प्रफेशनल्स की बड़ी संख्या में नियुक्ति कर सकती हैं। उन्हें कंपनसेशन और बेनिफिट्स, एचआर बिजनस पार्टनर इन सेल्स और टैलंट मैनेजमेंट का तजुर्बा रखने वालों की तलाश है।

लीगल
रिपोर्ट की मानें तो इन हाउस लीगल रोल के लिए टैलेंट की मांग काफी रहेगी। कंज्यूमर इंडस्ट्रीज में लिटिगेशन स्पेशलिस्ट और कंप्लायंस रोल के लिए प्रोफेशनल्स की अच्छी मांग होगी। बैंकिंग, फाइनैंशल सर्विसेज और इंश्योरेंस यानी बीएफएसआई कंपनियों के साथ, फार्मास्युटिकल्स, एफएमसीजी, इंजिनियरिंग, इंफ्रास्ट्रक्चर और एनर्जी कंपनियां ऐसे लोगों की बड़ी संख्या में हायरिंग कर सकती हैं। जो लोग इन पोजिशंस के लिए नौकरी बदलेंगे, उन्हें 26-30 पर्सेंट की सैलरी हाइक मिल सकती है।

टेक्नॉलजी
मशीन लर्निंग, एआई और प्रीडिक्टिव ऐनालिटिक्स के चलते कई बिजनस में बदलाव हो रहा है। सॉफ्टवेयर प्रॉडक्ट कंपनियों, एग्रीगेटर्स, फिनटेक और ई-कॉमर्स कंपनियों में ऐसी स्किल रखने वालों लोगों की अच्छी मांग रहेगी। रिपोर्ट में बताया गया है कि इनमें भी डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन, डेटा सिक्यॉरिटी और सायबर सिक्यॉरिटी का तजुर्बा रखने वालों को कंपनियां हाथोंहाथ लेंगी। इस सेगमेंट में नौकरी बदलने पर एवरेज सैलरी हाइक 26-30 पर्सेंट की हो सकती है।

डिजिटल और ऐनालिटिक्स
2018 में भी डिजिटल और ऐनालिटिक्स टैलंट की मांग बढ़ेगी क्योंकि कंपनियां डेटा साइंस, मशीन लर्निंग और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) का दायरा बढ़ा रही हैं। नए उद्योगों की तरफ से भी ऐसे टैलंट की मांग बढ़ रही है क्योंकि ज्यादातर बिजनस के लिए बिग डेटा और एनालिटिक्स अनिवार्य हो गए हैं। डिजिटल और ऐनालिटिक्स सेगमेंट में बैंकिंग और फाइनैंशल सर्विसेज, ई-कॉमर्स, मीडिया अच्छी हायरिंग कर सकते हैं। इनमें डेटा साइंटिस्ट, बिग डेटा प्रफेशनल्स, मशीन लर्निंग और रिस्क ऐनालिटिक्स की मांग अधिक रहने की उम्मीद है। डिजिटल और ऐनालिटिक्स सेगमेंट में नौकरी बदलने वालों की सैलरी में 31-35 पर्सेंट की बढ़ोतरी हो सकती है।

इंजिनियरिंग और मैन्युफैक्चरिंग
कंपनियां अपने मैन्युफैक्चरिंग ऑपरेशंस को बढ़ाने की कोशिश कर रही हैं। इसलिए पूरे साल में इंजिनियरिंग और मैन्युफैक्चरिंग मार्केट के मजबूत बने रहने की संभावना है। माइकल पेज की रिपोर्ट में कहा गया है कि इन दोनों सेगमेंट में केमिकल, पेंट, इंजिनियरिंग, एफएमसीजी और रिटेल सेक्टर अच्छी हायरिंग कर सकते हैं। एवरेज सैलरी हाइक 23 पर्सेंट से लेकर 45 पर्सेंट तक हो सकती है।

Note: News shared for public awareness with reference from the information provided at online news portals.

Tags: , , , , , , , , ,

More Stories From Skill Development