Go to ...

Skill Reporter

News and media to update you on Skill Development in India

Skill Reporter on Google+Skill Reporter on YouTubeSkill Reporter on LinkedInSkill Reporter on PinterestRSS Feed

July 24, 2017

‘राजस्थान के इंजीनियरिंग, पॉलीटेक्नीक कॉलेजों में शिक्षा का स्तर सुधारने के हो रहे हैं प्रयास’


राजस्थान : राजस्थान की उच्च एवं तकनीकी शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी ने कहा कि प्रदेश के सभी इंजीनियरिंग और पॉलीटेक्नीक कॉलजों में शिक्षा का स्तर बेहतरीन करने के प्रयास किए जा रहे हैं। सरकार की मंशा है कि कॉलेज से निकलने वाले प्रत्येक छात्र का भविष्य सुनहरा हो।

मंत्री माहेश्वरी मंगलवार को प्रदेश के सभी इंजीनियरिंग, पॉलीटेक्नीक कॉलेजों के प्राचार्यों और राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय के प्रतिनिधियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा कर रही थीं।

शासन सचिवालय परिसर के एनआईसी सेंटर में सम्पन्न वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर विस्तृत विचार-विमर्श किया गया। इस दौरान विगत 3 वर्षों में अभियांत्रिकी और पॉलीटेक्नीक महाविद्यालयों में प्रवेश की स्थिति और उनके सुधार के प्रयास के लिए जरूरी सुझाव मांगे गए। साथ ही छात्रों के प्लेसमेंट की समीक्षा कर उसे और बेहतर करने तथा कॉलेजों में कार्यरत शिक्षकों की सूचना एवं शिक्षकों की कमी को दूर करने संबंधी सुझावों पर भी चर्चा की गई।

मंत्री माहेश्वरी ने कहा कि बैठक का मकसद सभी प्राचार्यों से सीधे संवाद कर उनके व्यवहारिक सुझाव जानना था। उन्होंने बताया कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में अभियांत्रिकी और पॉलीटेक्नीक कॉलेजों के छात्रों को विभिन्न स्रोतों से मिलने वाली छात्रवृत्ति की भी जानकारी ली।

उन्होंने राज्य के अभियांत्रिकी पाठ्यक्रमों को बेहतर बनाने के लिए तकनीकी विश्वविद्यालय, कोटा द्वारा प्रत्येक राजकीय अभियांत्रिकी महाविद्यालय में एक दिवसीय वर्कशॉप आयोजित करने के भी निर्देश दिए।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में संस्थानों के विकास के लिए प्रत्येक राजकीय अभियांत्रिकी महाविद्यालय को त्रिवर्षीय कार्य योजना प्रस्तुत करने के साथ ही प्रवेश की स्थिति में सुधार के लिए भी आवश्यक कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए गए।

Note: News shared for public awareness with reference from the information provided at online news portals.

Tags: , , , , , , , , , , , ,

More Stories From Rajasthan